टाइपस्ट (Typist) कैसे बनें

यहां टाइपिस्ट की प्रासंगिकता आती है क्योंकि उनके पास निर्दिष्ट समय के भीतर हस्तलिखित दस्तावेजों को टाइप किए गए प्रारूप में बदलने की क्षमता होती है।

वर्ड प्रोसेसर के आविष्कार से टाइपिस्ट का काम पुराने जमाने की तुलना में आसान और दिलचस्प हो गया है।

उनका काम केवल टाइपिंग तक ही सीमित नहीं है, बल्कि प्रारूपित दस्तावेजों के रखरखाव तक भी है।

यह आवश्यक नहीं है कि टाइपिस्ट बनने के लिए उम्मीदवारों के पास कोई निर्दिष्ट डिग्री होनी चाहिए।

उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं या 12वीं पास होना चाहिए।

टाइपिस्ट में आवश्यकता के अनुसार अपनी गति को समायोजित करने की क्षमता होनी चाहिए।

FOR MORE INFO CLICK HERE